Meri chah eassy in Hindi


 मेरी चाह 


         मुझे मेरी चाह के बारेमे सोच के लिखने  का मौका मिला तो मेने मेरी  चाह  पढ़ने में बहुत है।  चाहे वो अखबार, समाचार, उपन्यास, सामान्य ज्ञान की किताब या कोई भी अन्य ज्ञानवर्धक किताब हो, जो किसी अच्छे लेखक द्वारा लिखी गई हो। मैं अपने खाली समय में अधिकतर कोई भी कहानियों की किताब, समाचार पत्र, मैंगजीन और अन्य ऐसे लेखों को पढ़ता हूँ, जिसमें मेरे प्रयोग में आने वाली जानकारी हो। किताबों को पढ़ने की, मेरी इस रुचि पर सबसे पहले मेरे पिता जी ने ध्यान दिया और उन्होंने मुझे यह कहकर प्रोत्साहित किया कि यह बहुत अच्छी आदत है, मेरे बेटे, जो तुम्हें प्राकृतिक रुप से मिली है, अपनी इस आदत को कभी मत जाने देना और हमेशा इसे अपने अभ्यास में रखना। मैं बहुत छोटा बच्चा था, और परियों की कहानी और मेरे माता-पिता द्वारा दी जाने वाली अन्य कहानियों की किताबों को बहुत अधिक रुचि के साथ पढ़ता था।
          अब में 11  साल की  हूँ और कक्षा 6  में पढ़ता हूँ। अब मुझे वास्तव में, अपने पढ़ने की इस रुचि के लाभ दिखाई देते हैं। इसने मुझे सामान्य ज्ञान के किसी भी विषय पर जानकारी प्राप्त करने में सक्षम बनाया है। इस आदत ने मुझे दुनिया के आश्चर्यों, जीव की उत्पत्ति का इतिहास, अंतरिक्ष, पशु, पक्षी, पेड़-पौधे, जलीय जीवों और संसार के बारे में अन्य आश्चर्यजनक चीजों के बारे में जानने में सहायता की है। और में दूसरी स्पर्धत मक परीक्षा में उत्तीर्ण हो सकता हु। में आगेभी में अधिक से अधिक पुस्तके पढ़ता हु और मुझे बहुत अच्छा लगता हे,और सबको आगे पढ़कर 
में  शिकक्षिका बनान चाहती हु। 
Meri chah eassy in Hindi Meri chah eassy in Hindi Reviewed by Btsmartteach on 9/08/2017 10:05:00 PM Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.